आस्था

🚩रायगढ़ नगरी में दो दिवसीय रहेगी”माँ बेरीवाली की धूम, बुधवार को निकलेगी भव्य निशान एवं कलश यात्रा🚩

🅾️ होटल श्रेष्ठ में होगा 16 मई को मंगल पाठ,माँ की ज्योत एवं माँ के भजनो का आयोजन*

रायगढ़ 14 मई : नगर के अग्र समाज द्वारा अपनी कुलदेवी माँ बेरी वाली देवी का प्रथम भीमेश्वरी देवी का दो दिवसीय उत्सव आयोजन किया है। जिसे सफल बनाने के लिए माँ बेरी वाली देवी कुल के सदस्य महीनों से तैयारी में जुटे है। 15 व 16 में को दिवसीय आयोजन में बुधवार 15 मई को भव्य कलश एवं निशान यात्रा निकाली जावेगी जिसमें माँ के श्रृंगार की पालकी आकर्षण का केंद्र रहेगी।

जो शाम 5:00 बजे गांधी गंज श्री राम मंदिर परिसर से प्रारंभ होगी एवं श्याम टॉकीज चौक,एम.जी. रोड, अग्रसेन चौक, मेन हॉस्पिटल रोड,टाउन हॉल रोड,सुभाष चौक, गद्दी चौक, हटरी चौक,सिटी कोतवाली से हंडी चौक होती हुई माँ बेरी वाली के मंदिर अनाथालय देवी मंदिर जाएगी। शोभा यात्रा मार्ग में माँ के भक्तों द्वारा जगह-जगह भव्य स्वागत सत्कार किया जाएगा। शाम 7:30 बजे से पूजन पश्चात प्रसाद व भंडारा का आयोजन किया गया है।

इसी क्रम में दूसरे दिन 16 मई गुरुवार को होटल श्रेष्ठ में माँ का मंगल पाठ, माँ की ज्योत एवं माँ के भजनों का आयोजन किया गया है। मंगल पाठ दोपहर 3:30 बजे से प्रारंभ हो जाएगा। मंगल पाठ के लिए विशाखापट्टनम से नरेश शर्मा जी एवं उनकी टीम का आगमन हो रहा है इनके द्वारा मंगल पाठ एवं कीर्तन किया जाएगा। माँ बेरी वाली देवी पर दो पत्रिका बनाई गई है। जिसकी लेखिका उषा गुप्ता जी (विशाखापट्टनम) एवं सरिता दुबलधनिया जी (बरगढ़) का भी कार्यक्रम में आगमन होगा। उनका रायगढ़ माँ बेरी वाली परिवार की तरफ से सम्मान व अभिनंदन किया जाएगा।

माता रानी को अनेक सवामनी एवं छप्पन भोग का प्रसाद लगाया जाएगा तथा सभी भक्तों को सुहाग सामग्री का वितरण किया जाएगा। कुलदेवी माँ बेरी वाली देवी समिति ने बाहर से आने वाले भक्तों के लिए होटल श्रेष्ठ व अग्रोहा धाम में रहने की उत्तम व्यवस्था की है।

माँ बेरी वाली देवी कुल के सदस्य इस आयोजन को सफल बनाने में जोरशोर से जुटे हैं एवं सभी अपनी भागीदारी निभा रहे हैं। आयोजन समिति ने नगर में निवासरत माँ बेरी वाली देवी कुल के सभी सदस्यों को सपरिवार इस दो दिवसीय आयोजन में शामिल होकर पुण्य के भागी बने की अपील की है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!