छत्तीसगढ़

VIDEO:मुंगेली चप्पलकांड को राजनीतिक तूल देने की कोशिश…..मामले में पंचायत मंत्री ने ली घटनाक्रम की जानकारी….IAS एसोसिएशन ने भी….आगे पढ़े न्यूज़ मिर्ची-24

VIDEO:मुंगेली चप्पलकांड को राजनीतिक तूल देने की कोशिश…..मामले में पंचायत मंत्री ने ली घटनाक्रम की जानकारी….IAS एसोसिएशन ने भी…

रायगढ़/छत्तीसगढ़/बसपा नेत्री के IAS को चप्पल मारने की कोशिश ने तूल पकड़ लिया है। मुंगेली में जहां इस मामले पर राजनीतिक माहौल गरम है, तो वहीं प्रदेश भर के ब्यूरोक्रेट भी घटनाक्रम पर हैरान हैं। IAS एसोसिएशन ने जहां इस मामले में आपात बैठक बुलाने और चीफ सिकरेट्री से इस मामले में शिकायत की बात कही है। तो वहीं इस मामले में पंचायत मंत्री और सीएम सचिवालय ने भी संज्ञान लिया है। जानकारी के मुताबिक खुद पंचायत मंत्री ने भी फोन पर पूरे घटनाक्रम को लेकर जानकारी ली है। इधर, इस मामले को राजनीतिक रंग देने की कोशिश जारी है…आपको बता दें कि आज मुंगेली की जिला पंचायत सदस्य लैला ननकू भिखारी पंचायत विकास निधि का मद जारी करने के मामले CEO पर दवाब बना रही थी। इस मद की राशि पर प्रभारी मंत्री के निर्देश पर CEO ने रोक लगा रखी है।

CEO के साथ चैंबर में पहले तो महिला सदस्य ने विवाद किया ही, जब सीईओ बाहर निकलकर जाने लगे तो उन्हें चप्पल से मारने की कोशिश की गयी। यही नहीं जातिगत मामले में IAS को फंसा देने की धमकी भी दी गयी।महिला सदस्य ये कहती रही कि उसे जातिसूचक शब्दों का इस्तेमाल कर अपमानित किया गया।हालांकि जब इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया में वायरल हुआ तो हकीकत सबके सामने आ गयी। महिला सदस्य वीडियो ना सिर्फ चप्पल उठाकर मारने की कोशिश करती दिखी, बल्कि ये भी कहती सुनी गयी, कि बुलाओ एसपी को, क्या कर लेते हैं। इधर इस मामले को राजनीतिक तूल देने की कोशिश अभी भी जारी है।

इस मामले में जहां महिला सदस्य ने भी एसपी के सामने शिकायत की है, तो वहीं जिला पंचायत CEO रोहित व्यास ने भी मामले में एसपी को कार्रवाई के लिए आवेदन दिया है।चप्पल मारने की कोशिश करने वाली बसपा नेत्री के समर्थन में राजनीतिक और सामाजिक संगठन के लोग भी थाने पहुंच गये हैं। खबर लिखे जाने तक समाजिक संगठन के लोग थाने का घेराव कर बैठे थे। इधर इस मामले में जिला पंचायत CEO ने भी एसपी को आवेदन देकर मामले में FIR दर्ज करने की मांग की है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!